कर्जमाफी को लेकर महाराष्ट्र सरकार के विरोध में अब महाराष्ट्र के किसान करेंगे हड़ताल

क्यों कर रहे है हड़ताल ?

यूपी में हुए कर्ज माफ़ी के बाद अब महारास्त्र के लोगो ने भी सरकार के विरोध में हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है | उनका मानना है की यूपी के सरकार की तरह हमारे सरकार ने भी किसानो के हित का निर्णय लेना चाहिए  राज्य के अहमदनगर, नासिक, पुणे, सतारा, कोल्हापुर, औरंगाबाद और अन्य जिलों के किसान खरीफ सीजन में हड़ताल की योजना बना रहे हैं। अहमदनगर में शिरडी के नजदीक 40 गांवों के किसानों ने सोमवार को इस संबंध में बैठक की। जबकि अप्रैल अंत करीब 30 में जिलों में किसान आंदोलन फैलने होने की उम्मीद जताई गई है।

किसानों का कहना है कि उन्हें उत्पादों से फायदा नहीं हो रहा जिससे वे कृषि कार्य कायम रख सकें और परिवार का भरण-पोषण कर सकें। किसान संघर्ष समिति के सदस्य डॉ. धनंजय धनवंते ने कहा कि हमें वादे के अनुरूप अपने उत्पादों की कीमत नहीं मिलती जबकि बिचौलिये हमारे उत्पादों को शहरों में ऊंची कीमतों पर बेचते हैं। उन्होंने कृषि संकट के लिए सरकार की गलत नीतियों को जिम्मेदार बताया।

ऐसे करेंगे अनशन 

किसान बड़े पैमाने पर कृषि कार्य बंद कर देंगे। वे अपने गांव की जरूरतों को पूरा करने लायक उत्पादन करेंगे। वे शहरों के लिए धान और गेहूं नहीं बोएंगे। दूध और अंडे का उत्पादन नहीं करेंगे। आसपास के ग्रामीण जिलों से जरूरी वस्तुएं मुंबई भेजने से रोकेंगे।

ये हैं प्रमुख मांगें

-कर्जमाफी, कर्ज की ब्याज दर में कमी
-कीमत और मुनाफे से जुड़ी स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करना
-रोजाना आठ घंटे मुफ्त बिजली समेत बिजली और पानी की लगातार आपूर्ति
-60 साल की उम्र होने पर किसानों को पेंशन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top